प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story in hindi

प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story in hindi :: बचपन में हमने प्यासे कौवे की कहानी सुनी होगी। जो बहुत ही ज्यादा प्रचलित थी। आज hindivaani आपको प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story in hindi कहानी की जानकारी प्रदान करेगा। यह thirsty crow story for kids in hindi के लिए भी होगी। जिससे आप छोटे बच्चों को ये सीख सहित कहानी सुना सकेंगे।

यदि आप अपने जीवन मे सफल होना चाहते है। तो ये प्रेणादायक किताब जरूर पढ़ें – Top 21 motivational book in hindi

प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story in hindi

प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story for kids in hindi, thirsty crow story with moral, प्यासे कौवे की कहानी सीख सहित।, thirsty crow story in hindi
प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story for kids in hindi, thirsty crow story with moral, प्यासे कौवे की कहानी सीख सहित।, thirsty crow story in hindi

एक बार की बात हैं। कि एक कौवा जंगल मे रहता था। एक वर्ष जंगल मे बहुत भयंकर सूखा पड़ गया था।सभी पेड़ पौधे और तालाब सुख गए थे । तालाबो नदियों कहि पर भी एक बूंद पानी नही था। एक दिन कौवा बहुत प्यासा हुवा। पर वह की तलाश करने में इधर उधर भटक रहा था। उसने काफी प्रयास किया यह सोच कर की कही न कही तो पानी जरूर ही मिल जाएगा। परन्तु कौवे को कहि पर भी पानी नही मिला।

कौवा इधर उधर पानी की खोज करते हुए अब तक चुका था। वह थकान के कारण एक पेड़ में जाकर बैठ गया। और चिंन्तन मनन करने लगा। कि अब पानी की प्राप्ति कैसे होगी। कुछ ही समय पश्चात उसकी नजर के घड़े पर पड़ती हैं। वह बहुत खुश हुवा की अब उसे पानी मिल ही जायेगा। वह घड़े की नजदीक जाता हैं। और उस घड़े में चोंच डलता हैं। तो देखता ही कि बहुत घड़े के एकदम तल में है। जहाँ तक उसकी चोंच नही पहुच पाती हैं। कौवा दुखी हो जाता हैं।और वह फिर निराश होकर बैठ जाता हैं।

सहसा उसके दिमाक में एक विचार आता हैं। और वह चोंच से पत्तर को उठाता हैं। और घड़े में उन पत्थरो को डालने लगता हैं। यह क्रम करता ही रहता हैं। कुछ समय बाद यह दिखता हैं। कि पानी घड़े की ऊपर आने लगता हैं। कौवा प्रसन्न होता हैं। और अब अपनी चोंच को घड़े में डाल कर वह अपनी प्यास को बुझा लेता हैं।

प्यासे कौवे की कहानी से शिक्षा( thirsty crow story with moral)-

प्यासे कौवे की कहानी से हमे यह शिक्षा मिलती हैं। हमारे जीवन मे चाहे कितनी भी कठिन परिस्थितियां आये। परन्तु हमे अपने धैर्य को कभी भी नही खोना चाहिए। उस समय हमें अपनी बुद्धि को लगाकर उस कठिनाई को अपने जीवन से दूर करने का प्रयास करना चाहिए।

आशा हैं कि हमारे द्वारा बताई गई प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story in hindi की कहानी आप सभी लोगो को पसन्द आयी होगी इसे अपने दोस्तों में जरूर शेयर करे।

Tages प्यासे कौवे की कहानी, thirsty crow story for kids in hindi, thirsty crow story with moral, प्यासे कौवे की कहानी सीख सहित।, thirsty crow story in hindi

Leave a Comment