न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम Newton’s second law of motion

न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम ( Newton’s second law of motion :: न्यूटन ने गति विषयक तीन नियम दिए हुए है। जिनमी से आज hindivaani आपको न्यूटन के गति विषयक द्वितीय नियम की जानकारी प्रदान करेगा। इसके अंतर्गत आपको न्यूटन के गति विषयक द्वितीय नियम के उदाहरण की भी जानकारी मिलेगी। साथ ही साथ सूत्र का निगमन करते हुए सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की जाएगी।

न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम ( Newton’s second law of motion )

गति के नियमों की व्याख्या,गति के दूसरे नियम के उदाहरण,गति के  नियम के सूत्र,गति का द्वितीय समीकरण ,गति के समीकरण,गति के नियम किसने दिया था,गति का द्वितीय नियम,न्यूटन के गति का दूसरा नियम,गति के नियम के उदाहरण,गति के नियम के सूत्र,न्यूटन के नियम के उदाहरण,न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम,Newton's second law of motion
गति के नियमों की व्याख्या,गति के दूसरे नियम के उदाहरण,गति के नियम के सूत्र,गति का द्वितीय समीकरण ,गति के समीकरण,गति के नियम किसने दिया था,गति का द्वितीय नियम,न्यूटन के गति का दूसरा नियम,गति के नियम के उदाहरण,गति के नियम के सूत्र,न्यूटन के नियम के उदाहरण,न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम,Newton’s second law of motion

न्यूटन के गति विषयक द्वितीय नियम के अनुसार ” किसी वस्तु पर बाहर से लगाया गया बल F ,उस वस्तु के द्रव्यमान m तथा उस वस्तु में बल की दिशा में उत्पन्न त्वरण a के गुणनफल के अनुक्रमानुपाती होता है”

F ∝ m × a
F = K × m × a ————(१)
यहां पर K एक नियतांक हैं।

यहां पर यदि हम बल F का मात्रक इस प्रकार से चुने की एकांक बल , एकांक द्रव्यमान की वस्तु में एकांक त्वरण उत्पन्न कर सके तब,

समी 1 में F= 1 ,m=1, a =1 रखने पर
1 = K × 1 × 1
K = 1
इसीलिए समीकरण 1 से F = m × a

READ MORE ::  एकबीजपत्री और द्विबीजपत्री में अंतर Difference between dicotyledonae and monocotyledonae in hindi

अतः बल = द्रव्यमान × त्वरण

इसे ही न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम कहते है।

न्यूटन के गति विषयक द्वितीय नियम के उदाहरण

बंदूक से निकली गोली शरीर में घुस जाती है –

बंदूक से निकली गोली शरीर में इसलिए घुस जाती है।क्योंकि बंदूक से निकलते हुए गोली का वेग बहुत अधिक होता है। तथा यह जब शरीर से टकराती है।तो यह बहुत कम समय में ही शून्य हो जाता है।क्योंकि गोली में वेग परिवर्तन की दर एवं बल बहुत अधिक है। अतः इसी कारण से गोली शरीर में घुस जाती है।

क्रिकेट की गेद पकड़ते समय खिलाड़ी अपने हाथ पीछे की ओर खींच लेता है

क्रिकेट की गेद पकड़ते समय खिलाड़ी अपने हाथ इसलिए खींच लेता है।क्योंकि यदि खिलाड़ी हाथ को ही स्थिर रखकर गेद को पकड़ेगा। तो गेद को स्थिर होने में बहुत कम समय लगेगा। जिससे वेग परिवर्तन की दर अधिक हो जाएगी।इस वजह से खिलाड़ी की हथेली को गेंद रोकने में अधिक बल लगाना होगा। जिससे खिलाड़ी के हथेली में चोट लग जाएगी। इसीलिए खिलाड़ी इनको अधिक समय में रोकने के लिए हाथ को गेंद की गति की दिशा में पीछे की ओर खींचता है।

READ MORE ::  धातु और अधातु में अंतर (Diffrence between metals and non metals in hindi)

आशा हैं कि हमारे द्वारा बताया गया न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम ( Newton’s second law of motion ) को जानकारी आपको काफी पसंद आई होगी। यदि यह जानकारी आपको पसन्द आयी हो तो इसे अपने दोस्तों से भी जरूर शेयर करे।

tages– गति के नियमों की व्याख्या,गति के दूसरे नियम के उदाहरण,गति के नियम के सूत्र,गति का द्वितीय समीकरण ,गति के समीकरण,गति के नियम किसने दिया था,गति का द्वितीय नियम,न्यूटन के गति का दूसरा नियम,गति के नियम के उदाहरण,गति के नियम के सूत्र,न्यूटन के नियम के उदाहरण,न्यूटन का गति विषयक द्वितीय नियम,Newton’s second law of motion

Leave a Comment