मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध,My Favourite teacher essay in hindi

मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध(My Favourite teacher essay in hindi) :: निबंधों की श्रीखला में आज hindivaani आपके लिए लेकर आया हैं। मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध , My Favourite teacher essay in hindi .यदि आपको मेरे प्रिय अध्यापक पर निबन्ध पसन्द आये तो इसे हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं।

मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध(My Favourite teacher essay in hindi)

मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध(My Favourite teacher essay in hindi)
मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध(My Favourite teacher essay in hindi),मेरे प्रिय अध्यापक पर 10 लाइन,मेरे प्रिय अध्यापक पर निबंध, मेरी प्रिय अध्यापिका पर 10 लाइन,मेरे प्रिय अध्यापक पर निबंध हिंदी में, मेरे प्रिय अध्यापक का निबंध

परिचय

मेरे प्रिय शिक्षक श्री राजेन्द्र रावत जी हैं। उनका प्रिय शिक्षक होने में एक खास बात भी हैं। क्योंकि यह हमारे विद्यालय के गणित और विज्ञान के शिक्षक हैं। जिनसे पहले कोई और शिक्षक थे। जिनसे हम यह विषय समझने में कठिनाई होती थी। परन्तु उनकी जगह पर जब श्री राजेन्द्र रावत जी को शिक्षक के रूप में लाया गया तो इनकी विषय पढ़ाते समय शिक्षक अधिगम सामग्री के माध्यम से कठिन से कठिन विषय को रोचक बनाने की प्रक्रिया हम सभी को पसन्द आयी।

जिसके बाद से ही हमारी गणित और विज्ञान विषय मे रुचि भी उतपन्न हुई। और अब हमारे इन विषयों में अच्छे नम्बर भी आते है। इन्हीं सब कारणों की वजह से मेरे प्रिय शिक्षक राजेन्द्र रावत जी हैं।

हमारे लिए प्रेरणास्रोत के रूप में –

हमारे प्रिय शिक्षक श्री राजेन्द्र रावत जी के विचार हमें बहुत ही ज्यादा प्रेरित करते हैं। वह अपने जीवन से सम्बंधित एक घटना बताते है। उनको जब नौकरी मिली थी तो वह अपनी पहली सैलरी को गरीब बच्चों की शिक्षा हेतु दान के रूप में दे दिया था। इससे खास कर मैं काफी ज्यादा प्रभावित हुआ साथ ही साथ मैन यह निश्चय किया। की ऐसे सफल हो जाने पर मैं भी लोगो की मदद करूंगा।

READ MORE ::  10 lines on mahatma gandhi in hindi ,महात्मा गाँधी पर 10 लाइन

वह अपने शिक्षा प्रदान करने के साथ समय समय पर विभिन्न सफल लोगो के विषय मे जानकारी भी प्रदान करते रहते है। जिससे की हमारे अंदर एक अलग प्रकार की ऊर्जा का संचार होता हैं। और हम अपने लक्ष्य की ओर और भी ज्यादा एकाग्र चित्त होते है।

Also read :: Ten lines on teacher in english for students

कुशल मार्गदर्शक

शिक्षा प्रदान करना उनका महत्वपूर्ण कर्तव्य हैं। परन्तु आगे के जीवन के लिए मार्गदर्शन करना उनकी एक अलग ही कुशलता हैं। वह हमेशा तत्पर रहते है। कि हम भारत देश के एक भावी नागरिक बने। जिससे कि उनका हर एक छात्र देश की सेवा में अपना योगदान दे सके। वह अपने शिक्षण सम्बन्धित अनेक प्रकार की बाधाओं से मुक्ति दिलाते है।साथ ही साथ हमे वह तनाव से दूर रखने की भी सलाह देते है।

वह हमें यह बताते है। कि हनरे अपने अंदर की काबिलियत को जानकर उस काबिलियत को और निखार कर उस क्षेत्र में अच्छा करने की सलाह प्रदान करते हैं।यह बहुत ही कम शिक्षकों में होता हैं। जो शिक्षण कार्य के अतिरिक्त विभिन्न प्रकार का व्यवहारिक ज्ञान अपने छात्रों को देते है। परन्तु हमारे प्रिय शिक्षक राजेन्द्र रावत जी के यही गुण के वजह से वो हमारे प्रिय शिक्षक बने हैं।

READ MORE ::  10 lines on summer season in hindi,ग्रीष्म ऋतु पर 10 लाइन ,

उपसंहार

आजकल के वर्तमान समय मे हम यह देखते हैं। हम अपनी मर्यादा को भूल कर शिक्षकों का सम्मान करना भूल गए है। यदि कोई शिक्षक हमे डाँट देता या चिल्ला देता हैं। तो हम उसे अपने अहम के रूप में ले सकते है। और उनके प्रति विभिन्न प्रकार के अपशब्दों का प्रयोग करते है। परन्तु यदि उनकी डाँट को यदि हम सकारात्मक पुनर्बलन के रूप में लेकर हम उसे अपने जीवन मे लागू करे। और अपनी गलतियों को दूर करे। तो हमारे लिए वह डाँट अच्छी साबित होकर हमे देश का एक भावी नागरिक बनाएगी।

मेरे प्रिय अध्यापक पर 10 लाइन

मेरे प्रिय अध्यापक पर 10 लाइन निम्नलिखित हैं।

1.मेरे प्रिय अध्यापक राजेन्द्र रावत जी हैं।

2.वह एक कुशल वक्ता के साथ साथ अच्छे मार्गदर्शक हैं।

3.मेरे प्रिय अध्यापक राजेन्द्र रावत जी शिक्षक अधिगम सामग्री का प्रयोग करके शिक्षण कार्य को अधिक रुचिकर बनाते है।

4.मेरे प्रिय अध्यापक राजेन्द्र रावत जी हमारे शिक्षण कार्य से सम्बंधित सभी प्रकार की कठिनाइयों को दूर करते है।

READ MORE ::  बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ पर निबन्ध,Beti bachao aur beti padhao essay in hindi

5.हमारे प्रिय शिक्षक का शिक्षण कार्य का विषय गणित और विज्ञान हैं।

6.उनके पढ़ाने के तरीके की वजह से यह विषय हमारे पसंदीदा विषय बन गए है।

7.हमारे प्रिय अध्यापक शिक्षण कार्य के साथ साथ स्वास्थ सम्बन्धित बातों को भी समय समय पर बताते रहते है।

8.वह कमजोर छात्रों को अलग से समय प्रदान करके उनकी समस्याओं का समाधान करते हैं।

9.मेरे प्रिय शिक्षक किसी भी शिक्षण कार्य करने से पहले उससे सम्बन्धित वातावरण तैयार करने की कोशिश करते हैं।

10.मेरे प्रिय शिक्षक सब लोगो से काफी मिलनसार स्वभाव के हैं।

आशा हैं कि हमारे द्वारा मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध(My Favourite teacher essay in hindi) की जानकारी आपको पसन्द आयी होगी। यदि मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध(My Favourite teacher essay in hindi) की जानकारी आपको पसन्द आयी हो तो इसे अपने दोस्तों से जरूर शेयर करे।

Tages – मेरे प्रिय शिक्षक पर निबन्ध,My Favourite teacher essay in hindi,मेरे प्रिय अध्यापक पर 10 लाइन,मेरे प्रिय अध्यापक पर निबंध, मेरी प्रिय अध्यापिका पर 10 लाइन,मेरे प्रिय अध्यापक पर निबंध हिंदी में, मेरे प्रिय अध्यापक का निबंध

Leave a Comment