Independence day essay in hindi,स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध हिंदी में

स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध हिंदी में , Independence day essay in hindi :: जैसा कि आपको पता ही होगा कि भारत मे तीन राष्ट्रीय पर्व घोषित किये गए है। जिनमे से एक स्वतंत्रता दिवस हैं। यह पर्व हमारे में बहुत ही अधिक महत्वपूर्ण हैं। क्योंकि इस दिन भारत देश सदियों के गुलाम रहने के बाद अंग्रेजों स्वतंत्र हुवा था। आज हिंदीवानी आपको जो आर्टिकल उपलब्ध करा रही हैं उसका नाम हैं – स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध हिंदी में , Independence day essay in hindi . इस आर्टिकल में हम आपको स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाते है ? स्वतंत्रता दिवस का महत्वपूर्ण , स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाते है ? आदि की जानकारी देंगे। यह स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध प्रस्तावना सहित रहेगा। तो आइए शुरू करते है।

स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध हिंदी में , Independence day essay in hindi

स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध हिंदी में , Independence day essay in hindi
स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध हिंदी में , Independence day essay in hindi

प्रस्तावना

प्रत्येक व्यक्ति के लिए स्वतंत्रता का विशेष महत्व होता है। और यदि सदियों की परतंत्रता के बाद स्वतंत्रता मिली हो तो उसका महत्व और अधिक हमारे लिए बढ़ जाता है।बहुत वर्षों तक अंग्रेजों द्वारा भारत को गुलाम बनाए रखने के पश्चात हमें वीर सपूतों को बलिदान के पश्चात स्वतंत्रता मिली है।जिसका हमारे लिए खासा महत्व है।हमारा देश सदियों की परतंत्रता के बाद 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ था इसी उपलक्ष में इस दिन को हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं।यह हमारा राष्ट्रीय पर्व है। जिसे हम बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं। इस दिन भारत के प्रत्येक नागरिक द्वारा भारत के वीर सपूत जो देश को आजादी दिलाते हुए शहीद हुए थे उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जाती हैं।

उपयोगी लिंक – गणतंत्र दिवस पर निबन्ध हिंदी में

स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाते है ? 

भारत का इतिहास हजारों वर्ष पुराना रहा है इस लंबे वर्ष में भारत में कई प्रकार के विदेशी आक्रमणकारियों का सामना किया है बहुत से वर्षों तक विदेशी आक्रमणकारियों की संस्कृति और सभ्यता को तहस नहस करने के पश्चात अग्रेजो के द्वारा भी भारत को गुलाम बना लिया गया।और उनके द्वारा भारत के लोगो का शोषण करना शुरू कर दिया गयं और धीरे-धीरे अंग्रेजों का अत्याचार बढ़ने लगा।फल स्वरुप भारतीय जनमानस दासता की बेड़ियों में जकड़ता गया।और भारतमाता गुलामी की जंजीरों से कराहने लगी।तब भारत के वीर सपूतों के द्वारा अंग्रेजों के विरुद्ध संघर्ष का बिगुल फूंक दिया गय।आजादी का यह संघर्ष 19वीं शताब्दी के मध्य प्रारंभ हुआ।इस संघर्ष में भारत मां के बहुत सारे वीर सपूत शहीद हुए। और यह संघर्ष 1947 तक चला आजादी के इस संघर्ष में बहुत सारे महान क्रांतिकारियों का विशेष योगदान रहा।सदियों की परतन्त्रता के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ।तब भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा लाल किले की प्राचीर से तिरंगा झंडा फहराया गया। तब से प्रत्येक वर्ष लाल किले पर इस दिन प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्र ध्वज को फहराया जाता है।और झंडे को इक्कीस तोपों की सलामी दी जाती है।और प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त को रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

READ MORE ::  कंप्यूटर पर निबन्ध, Computer essay in hindi

स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाते हैं ?

स्वतंत्रता दिवस हमारा राष्ट्रीय त्योहार है।इसलिए इस दिन राष्ट्रीय अवकाश होता है।स्वतंत्रता दिवस के दिन स्कूल, कॉलेज में सरकारी दफ्तरों के अतिरिक्त निजी दफ्तरों में भी झंडा रोहण का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है।स्कूल, कॉलेजों में एवं सरकारी दफ्तरों में छात्र-छात्राएं एवं वहां का स्टाफ साथ ही साथ आसपास के लोग भी इस कार्यक्रम में उपस्थित होते हैं। स्वतंत्रता दिवस के दिन विभिन्न प्रकार के अतिथियों को स्कूल कॉलेज में आमंत्रित किया जाता है। जो हमें वीर शहीदों के बारे में जानकारियां एवं उनके बलिदान से हमें अवगत कराते हैं। किस दिन संपूर्ण राष्ट्र में हर्षोल्लास जोश एवं उत्साह से प्रत्येक व्यक्ति भरा होता है लोग एक दूसरे को स्वतंत्रता दिवस की बधाइयां देते हैं स्कूल कॉलेजों में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन करके छात्रों द्वारा बढ़ चढ़के इसमें हिस्सा  लिया जाता है। कई स्कूलों के द्वारा स्वतंत्रता दिवस के दिन झांकिया भी निकाली जाती हैं। जो लोगो के बीच आकर्षण का केंद्र होती हैं। सभी स्कूल और कॉलेज में स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम के समापन के पश्चात पुरुस्कार और मिठाई का वितरण होता हैं।

READ MORE ::  अनुशासन पर निबन्ध हिंदी में , Discipline essay in hindi

स्वतंत्रता दिवस का महत्व –

15 अगस्त या स्वतंत्रता दिवस का हमारे जीवन में बहुत अधिक महत्व है। स्वतंत्रता दिवस हमें हर साल या याद दिलाता है। कि हमें हर हाल में सांप्रदायिक ताकतों एवं देश की विघटनकारी शक्तियों का विरोध कर अपनी राष्ट्रीय एकता की रक्षा करनी है।स्वतंत्रता दिवस हमें देश के लिए शहीद हुए लोगों की याद दिलाता है। यह हमें किसी भी कीमत पर स्वतंत्रता की रक्षा करने की प्रेरणा देता है। अंग्रेजों ने जब भारत के अंतिम मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर को गिरफ्तार किया था। 

तब  आत्म सम्मान से भरे हुए स्वर में बहादुर शाह जफर ने कहा था “हिंदुओं में बू रहेगी जब तलक ईमान की, तक लंदन पर चलेगी तेज हिंदुस्तान की।” हर समय आने पर ईश्वर और धर्म पर विश्वास रखने वाले सच्चे हिंदुस्तानियों ने अपने बाहुबल की बदौलत अंग्रेजों ने सत्ता चीन का उनकी बातों को सच साबित कर दिया। स्वतंत्रता दिवस के दिन हम सभी लोग उन शहीदों को याद करते है। साथ साथ हम आने वाली पीढ़ी को इन वीर सपूतों के बलिदान के बारे में अवगत कराते है। साथ ही साथ किसी स्वतंत्र राष्ट्र की महत्व पर प्रकाश डाला जाता हैं। यह दिन हमे हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष की याद दिलाता हैं। 

READ MORE ::  होली पर निबन्ध 10 लाइन , 10 lines on holi festival in hindi

उपसंहार

जो राष्ट्र संगठित होता है।उसे ना तो कोई तोड़ सकता है।और ना ही कोई उसका कुछ बिगाड़ सकता है।वह अपनी एकता एवं सामूहिक प्रयास के कारण सदा प्रगति के पथ पर अग्रसर रहता है। कई बार हमारे दुश्मन देश या पैसे के लिए सब कुछ बेच देने वाले कुछ स्वार्थी अराजकता एवं आतंकी कार्यों द्वारा हमारी एकता को भंग करने का असफल प्रयास किया गया है।अतः भारत के प्रत्येक नागरिकों का यह कर्तव्य बनता है। कि इसकी एकता एवं अखंडता को बनाए रखने के लिए हर बलिदान और त्याग करने को प्रस्तुत रहें। हम अपनी चौकन्नी दृष्टि से ऐसे तत्वों को पनपने से रोक सकते है। देश के बुद्धिजीवियों और प्रबुद्ध नागरिकों का कर्तव्य है।कि वे देश की जनता को इस दिशा में जागरूक कर समूचे राष्ट्र की एकता कायम रखने में अपना आवश्यक योगदान दें।क्योंकि राष्ट्रीय एकता की सशक्त और समृद्ध राष्ट्र की आधारशिला है। इसलिए देश की एकता एवं अखंडता की रक्षा करना हमारा परम कर्तव्य है।स्वतंत्रता दिवस प्रत्येक वर्ष हमें इसी की प्रेरणा देता है।

Final word – 

आशा हैं कि हमने जो आपको स्वतंत्रता दिवस पर निबन्ध हिंदी में , Independence day essay in hindi उपलब्ध कराया हैं। उसके बारे में आपने अच्छे से पढ़ लिया होगा। और आपको इससे सम्बंधित पूरी जानकारी मिल गयी होगी। यदि आपको यह निबन्ध पसन्द आया हो। तो Essay on independence day in hindi आप अपने दोस्तों से भी जरूर शेयर करे। साथ ही साथ हमे कॉमेंट बॉक्स में जरूर लिख कर बताए कि यह आपको कैसा लगा । धन्यवाद

Leave a Comment