Graphic Designing क्या है – कैसे बने Graphic Designer?

आपने Graphic Designing के बारे में तो अक्सर सुना होगा। मगर बहुत कम लोग इसे सही से जानते है। अगर आप क्रिएटिव है और आपका कला की ओर झुकाव है तो आपको ग्राफिक डिजाइनिंग फील्ड के बारे में ज़रूर जानना चाहिए l यह आपके लिए बेहतर करियर ऑप्शन साबित हो सकता है।

तो आइए जानते है Graphic Designing क्या है और आप कैसे इस फील्ड में अपने भविष्य बना सकते है।

Graphic Designing क्या है?

Graphic Designing क्या है

ग्राफ़िक डिजाइनिंग में Images, fonts, कलर्स और टाइपोग्राफी को एक साथ मैनेज करके जो डिजाइन तैयार होता है वह ग्राफ़िक्स कहलाता है। यही ग्राफ़िक्स बनाने वालों को Graphics Designer कहते हैं।

ग्राफिक डिजाइन को बनाने के लिए मार्केट में तरह तरह के सॉफ्टवयर्स उपलब्ध है जिनका उपयोग करके बहुत ही आकर्षक डिजाइंस बनाए जा सकते हैं। 

ग्राफ़िक डिजाइन का सबसे ज्यादा इस्तेमाल डिजिटल विज्ञापन, प्रिंट मीडिया, फिल्म इंडस्ट्री आदि में किये जाता है ।  

Graphic Designer कैसे बनें?

ग्राफिक डिजाइनर बनने के लिए आपको कुछ चीज़ों पर ध्यान देना होगा जैसे कि- 

1. Educational Qualification

ग्राफिक डिजाइनर बनने के लिए कोई फिक्स कोर्स नहीं बना हुआ  है। आपको न्यूनतम 12 पास होना आवश्यक है। इसके लिए आपको ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन करने की भी ज़रूरत नहीं है। आप 12 कक्षा को पूरी करने के बाद सीधा Graphic designing में डिप्लोमा कर सकते है।  

2. Skills

एक अच्छा डिजाइनर बनने के लिए Drawing, Typography तथा layout से जुड़ी जानकारी होना जरूरी है तभी आप इस फील्ड में माहिर बन सकते है ।

इसके साथ ही color combination, font’s और image चुनने की समझ होना बेहद ज़रूरी है।

बाकी आप के ऊपर निर्भर करता है कि आपके अंदर चीजों को डिजाइन करने के लिए क्रिएटिविटी कितनी है।

3. Course Duration

अगर आप चाहें तो आप ग्राफिक डिजाइन कोर्स को ग्रजुऐशन या पोस्ट ग्रजुएशन करने के बाद भी कर सकते है! इन डिप्लोमा कोर्सेज कि अवधि 6 माह से लेकर 3 साल तक हो सकती है।

READ MORE ::  Australia ki rajdhani kya hain ,ऑस्ट्रेलिया राजधानी

4. ग्राफ़िक डिज़ाइन सीखने के लिए अपने पसंद के छेत्र का चयन करें-

ग्राफिक डिजाइनिंग सीखने से पहले आपको ये निर्णय लेना होगा कि आप किस फील्ड से ग्राफिक डिजाइनिंग करना चाहते हैं जैसे कि, advertising, web development, multimedia, या फिर animation, ये सभी फील्ड ग्राफिक डिज़ाइन के अलग-अलग रूप माने जाते हैं। जिस भी फील्ड में आपकी रुचि हो आपको उसी का चयन करना चाहिए।

5. अलग-अलग सॉफ्टवेयर का प्रयोग –

हर डिजाइन एक ही सॉफ्टवेयर से बन जाए ऐसा जरूरी नहीं इसलिए एक अच्छा ग्राफ़िक डिजाइनर बनने के लिए आपको अलग अलग तरह के सॉफ्टवेयरो पर काम करना आना चाहिए ।

कुछ बेसिक सॉफ्टवेयर जिनका इसतेमाल ग्राफिक डिजइनिंग में होता है उनके नाम इस प्रकार हैं –

PHOTOSHOP

COREL DRAW

PAGE-MAKER

ILLUSTRATOR

IN DESIGN

LIGHTROOM

AFTER EFFECTS

PREMIUM PRO

SPARK

FLASH

ADOBE XD

अच्छा डिजाइनर बनने के लिए इन सॉफ्टवेयर को इस्तेमाल करना आना बहुत ज़रूरी है।

ये सब सॉफ्टवयर्स सस्ते नहीं होते और अगर आप अभी इसकी शुरुआत ही कर रहे हैं तो ये सॉफ्टवयर्स इस्तेमाल करने में आपको परेशानी हो सकती है। शुरुआत करने के लिए पहले कुछ फ़्री सॉफ्टवयर्स जैसे कि, Gimp, Scribus, Inkscape और Pixlr का इस्तेमाल करें।

Important link – 94 manufacturing bussiness idea in hindi

Graphic Designing के कौन कौन से कोर्स हैं?

ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्सेज को करने के लिए बहुत से प्राइवेट इंस्टीट्यूट्स में सर्टिफिकेट और डिप्लोमा कोर्सेज कराए जाते हैं। इन कोर्सेज के नाम हैं-

1. Diploma in Graphic Design- यह 6 महीने का कोर्स है और इसे आप 12 के बाद भी कर सकते हैं।

READ MORE ::  DELEd kya hain Full form syllabus

2. Certified Courses in Graphics Design- यह भी 3-6 महीने का कोर्स है और इसे आप 12 के बाद भी कर सकते  हैं।

3. Bachelor in Fine Arts- यह कोर्स चार साल का होता है और इसके लिए 12वीं पास होना जरूरी है।

4. Post Graduate Diploma in Graphic Design- यह एक साल का कोर्स है अर इसे ग्रेजुएशन खत्म होने के बाद किया जाता है।

5. Bachelor of Design in Graphic Design ‘Bachelor of Design

6. Arts in Graphic Design ‘Master of Arts’

7. Graphic Design ‘Master of Design in Graphic design’

भारत के प्रमुख संस्थान जो ये कोर्स करते हैं उनके नाम हैं-

1. NID (Design of National Institute), Ahmadabad

2. IIT Bombay

3. Pearl Academy, Delhi

4. NIFT, Delhi

5. MIT Institute of Design, Pune

6. Amity Noida

7. MAAC Delhi

8. Arena Delhi NCR

Graphic designing में कहा नौकरी मिल सकती है?

आज कल ग्राफ़िक डिज़ाइनिंग का इस्तेमाल हर जगह किया जा रहा है, उदाहरण के तौर पर Facebook और YouTube को देखे तो अगर उनका डिजाइन साधारण और अट्रैक्टिव ना होता तो शायद वो इतना सक्सेसफुल ना हो पाते।

इसी तरह से हर नई कंपनी को अपनी branding के लिए Graphic designer की ज़रूरत होती है। जो उनके logo, वेबसाइट डिज़ाइन और उनकी सोच को प्रोफेशनल तरीके से स्क्रीन पर उतार सके।

सबसे पहले आपको ये जानना होगा की आपको ग्राफ़िक में क्या पसंद है, फिर आप उस फील्ड में नौकरी कर सकते है

ग्राफिक डिजाइनिंग के अंतर्गत कई फील्ड्स होती है जैसे कि-

1. Concept Artist- Concept Artist का काम होता है कि वो पहले अपनी इमेजिनेशन से पैदा हुए किरदार को किसी कागज पर उतारे फिर ग्राफिक डिजाइन सॉफ्टवेयर की मदद से उस किरदार को एनिमेटेड कैरेक्टर में बदलते हैं।.

READ MORE ::  सेटेलाइट क्या है ?, सेटेलाइट के प्रकार

2. Multimedia Manager- ये Concept Artist के तैयार किए हुए ग्राफिक डिजाइन को एनिमेशन में बदल कर कंप्यूटर आधारित फिल्म या लाइव एनिमेशन तैयार करते हैं। इनके बनाए डिजाइन आपको वेब पेज, टीवी एडवरटाइजमेंट, कंप्यूटर गेम्स और फिल्मों में देखने को मिलते हैं।.

3. Web Designer– Web Designer बनने के लिए आपको HTML, CSS, Java Script आदि कंप्यूटर लैंग्वेज की जानकारी होनी चाहिए। Web Designer वेबसाइट को बनता है उसे डिजाइन  करता है और वेबसाइट कैसे काम करेगी और उससे जुड़ी एप्लिकेशन को बनाने के लिए काम करता है।.

4. User Interface Designer- यह काम करते हैं कि किसी भी डिजाइन का लुक कैसा होगा। वह स्केच, फोटोशॉप, इलस्ट्रेटर जैसे डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग कर डिजाइन के रंग, आकार जैसी चीजों को तय करता है। .

5. Art Director- इनकी ज़िम्मेदारी होते हैं कि कोई विज्ञापन, पोस्टर या एनिमेशन को किस रूप में ऑडिएंस को दिखाना है। यह अपने क्लाइंट की जरूरत के अनुसार उनके idea को उपभोक्ता तक पहुंचाने का काम करते हैं।

Graphic Designers की सैलरी कितनी होती है?

शुरुआती स्तर पर एक ग्राफिक डिजाइनर 20-30 हजार रूपए महीने तक कमा सकता है और जैसे जैसे उसका एक्सपीरिएंस बढ़ता जाएगा उसकी salary भी  बढ़ती जाएगी। एक प्रोफेशनल ग्राफिक डिजाइनर की सैलरी 1-1.5 लाख रुपये तक भी जा सकती है।

Final word ::

आशा हैं कि हमारे द्वारा दी गयी Graphic Designing क्या है ? की जनाकारी आपको पसन्द आयी होगी। यदि आपकी Graphic Designing क्या है  की जानकारी आपको पसन्द आगी हो। तो उसे अपने दोस्तों से जरूर शेयर करे। साथ ही साथ यदि आपको इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी भी आपको आवश्यकता है। तो आप कॉमेंट बॉक्स में लिख कर जरूर हमे बताए। हम जल्द से जल्द आपके प्रश्नों के उत्तरों को उपलब्ध कराएंगे।

Leave a Comment