होली पर निबन्ध हिंदी में , essay on holi in hindi

होली पर निबन्ध हिंदी में , essay on holi in hindi :: भारत देश मे होली का त्योहार बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता हैं। जिसे हम सभी लोग बड़ी ही खुशियों के साथ मानते है। आज hindivaani आप सभी को होली पर निबन्ध हिंदी में , essay on holi in hindi की जानकारी प्रदान करेगा।जिसके अन्तर्गत आपको short essay on holi in hindi और होली क्यों मानयी जाती हैं, होली का महत्व , होली कैसे मनाते हैं, होली पर निबन्ध प्रस्तावना सहित आदि की जानकारी प्रदान की जाएगी।

होली पर निबन्ध हिंदी में , essay on holi in hindi

होली के निबंध,होली का निबंध लिखा हुआ,होली पर निबंध बच्चों के लिए 10 line,होली पर 10 लाइन,simpale 10 lines essay on holi,Long essay on holi in hindi, होली पर बड़ा निबन्ध, होली पर निबन्ध प्रस्तावना सहित,होली पर निबन्ध 2020 , Short essay on holi in hindi ,होली पर निबन्ध हिंदी में,essay on holi in hindi
होली के निबंध,होली का निबंध लिखा हुआ,होली पर निबंध बच्चों के लिए 10 line,होली पर 10 लाइन,simpale 10 lines essay on holi,Long essay on holi in hindi, होली पर बड़ा निबन्ध, होली पर निबन्ध प्रस्तावना सहित,होली पर निबन्ध 2020 , Short essay on holi in hindi ,होली पर निबन्ध हिंदी में,essay on holi in hindi

होली पर निबन्ध 2020 , Short essay on holi in hindi

होली फाल्गुन मास में मनाया जाने वाला त्योहार हैं। यह अपने मे ही एक खास त्योहार हैं। जिसके लोग बड़े हर्सोल्लास के साथ मनाते है।जिसमे लोग एक दूसरे के घरों में जाकर इस पर्व की शुभकामनाएं देते है। और मिल जुल इस त्योहार को मनाते है।सभी लोग अपने घरों में अच्छे अच्छे व्यंजनों को बनाते है। और पूरे परिवार के साथ मिलजुल इस पर्व को बड़ी ही खुशियों के साथ मनाते है।

इस त्योहार के संदर्भ में कई सारी कथाएं भी प्रचलित हैं। जिनसे हम सभी भांति अवगत हैं। जिसमे से एक प्रचलित कथा हिरण्यकश्यप और प्रहलाद की भी हैं। जिसके कारण से हम सभी लोग होली को मानते है। भारत देश मे मथुरा की होली,ब्रज की होली, लठ्ठमार होली आदि प्रचलित हैं। जिसे देखने के लिए विदेशों से भी लोग आते है।और इस पवित्र त्योहार को मानते है।

इस दिन बच्चे लोग गुब्बारे , अबीर गुलाल आदि के साथ आपस मे रंगों से खेलकर अपनी खुशियों का इजहार करते है। यह बच्चो का खासा पसंदीदा त्योहार होता हैं। जिसे बच्चे लोग पुर साल इन्तेजार करते है।होली का त्योहार वसन्त ऋतु आने का त्योहार होता हैं। रंगों के पर्व से पहले हम सभी लोग होलिका दहन करते है। जिसमे हम अपनी बुराइयों को जला कर एक नई शुरुआत जिंदगी की करने का संकल्प लेते है। और साथ ही साथ अग्नि देवता से प्रहलाद की ही भांति हम सभी के दुखों को हरने की प्रार्थना करते है।

होली पर निबंध लिखिए,होली पर निबंध बताइए,होली पर निबंध लिखें,होली पर निबंध प्रस्तावना सहित,होली के बारे में निबंध,होली पर निबंध बच्चों के लिए,होली पर निबंध ,होली के निबंध,होली का निबंध लिखा हुआ,होली पर निबंध बच्चों के लिए 10 line,होली पर 10 लाइन,simpale 10 lines essay on holi,Long essay on holi in hindi, होली पर बड़ा निबन्ध, होली पर निबन्ध प्रस्तावना सहित,होली पर निबन्ध 2020 , Short essay on holi in hindi ,होली पर निबन्ध हिंदी में,essay on holi in hindi

Long essay on holi in hindi, होली पर बड़ा निबन्ध, होली पर निबन्ध प्रस्तावना सहित

प्रस्तावना

होली एक रंगों का त्योहार हैं। जिसमे हम सभी आपसी मतभेदों को दूर करके साथ मिल कर इस रंगों से भरे त्योहार को मानते है।यह पर फाल्गुन मास में मनाया जाता हैं। इस दिन लोग विभिन्न प्रकार के पकवान को बनाते है। और एक दुसरो को अपने घरों को आमंत्रित करते है।

होली क्यों मनाई जाती हैं ?

होली क्यों मनाई जाती हैं? इसके कई कारण हैं। ओर जो प्रचलित कारण हैं वह हिरण्यकश्यप और प्रहलाद की कहानी।जिसमे यह कहा जाता हैं। आर्यवर्त में हिरण्यकश्यप नाम का एक राजा हैं। वह अपने आप को ही परमेश्वर मानता था। और अपनी प्रजा से खुद की ही पूजा करने को कहता हैं। परंतु एक उसका प्रह्लाद नाम का पुत्र था। जो विष्णु जी का उपासक था।

वह हिरण्यकश्यप की पूजा नही करता था। यह बात जब हिरण्यकश्यप को पता चली। तो वह उसे मारने के लिए कई प्रयास किये। परन्तु सफल नही हुआ। इसके पश्चात वह अपनी बहन के साथ उसे मारने की योजना बनाता हैं। जिसमे होलिका नाम की उसकी बहन प्रह्लाद को लेकर जलती हुई अग्नि में बैठ जाती हैं। परंतु उस अग्नि में प्रह्लाद को कुछ भी नही होता हैं। और होलिका उस अग्नि में जलकर राख हो जाती हैं। इस खुशी की वहज से होली का पर्व मनाया जाता हैं।

होली 2020 कब हैं ?

होली 2020 , 9 मार्च को हैं। इस दिन सोमवार हैं। होलिका दहन का सुबह मुहूर्त 6:22 pm से 8:49 pm तक हैं। और रंगों वाली होली 10 मार्च को हैं। इस दिन मंगलवार हैं।

होली कैसे मानयी जाती हैं ?

होली को कई तरीकों से मनाया जाता हैं। यह कई दिनों तक चलने वाला त्योहार हैं। जिसे लोग बड़े ही धूम धाम से मानते है। लोग सबसे पहले होलिका दहन करते है। उसके पश्चात दूसरे दिन लोग अबीर गुलाल के साथ होली के त्योहार को बड़े अच्छे तरीके से मनाते है। सभी लोग एक दूसरे के घरों पर जाते है। और एक दूसरे के साथ खुशिया बाटते हैं। यह एक साथ मिल कर और आपसी सद्भावना को उतपन्न करने वाला त्योहार हैं। जो हमारे जीवन मे बहुत सारी खुशियां भर कर जाता हैं। सभी के घरों में गुजिया बनती हैं। जिसको खाना सभी का पसंदीदा कार्य होता हैं।

होली का महत्व

होली का कई मायनों में बहुत महत्व हैं। कुछ महत्व हम आप से साझा कर रहे है।

1.होली में लोग ईश्वर से एक प्रार्थना करते है। जिस प्रकार के आप प्रह्लाद के विभिन्न प्रकार के कष्ट को हराकर उसके जीवन मे खुशियों का संचार किया। उसी प्रकार से हमारे जीवन मे भी आप खुशिया भर दे।

2.हम यह देखते हैं। कि फाल्गुन मास में फसलों की कटाई होती हैं। और उसके बाद उस फसल को अग्नि से बचाने के लिए लोग अग्नि देवता की पूजा करके उनके जीवन मे कृपा दृष्टि को बरसने की प्रार्थना करते है।

3.यह त्योहार आपसी सौहार्द का त्योहार हैं। जो हमारे जीवन के मन मुटाव को दूर कर एक साथ रहने के सिख प्रदान करता हैं। जिससे कि आपस में प्रेम बना रहे।

उपसंहार

आज कल हम यह देखते हैं। कि होली का त्योहार एक अलग रूप ले लिया है। जिसमे व्यक्ति लोग केमिकल युक्त रंगों का प्रयोग करते हैं। जो खुद के साथ सभी लोगो को नुकसान पहुचाते हैं। अतः आप सभी लोग इन रंगों की बजाय अबीर गुलाल के साथ यह त्योहार को मानाये।

होली पर 10 लाइन हिंदी में ,simpale 10 lines essay on holi

होली का त्योहार रंगों का त्योहार हैं। जिसे हम सभी लोग मिल जुल कर मनाते है।

1.इस दिन लोग गुजिया और कई प्रकार के पकवान बनाते है।

2.लोग दूर दराज से आकर अपने पारिवारिक जनों से मिलते है।

3.सभी लोग अबीर गुलाल , रंगों को लगाकर इस त्योहार को मानते है।

4.होली के पर्व में लोग आपसी गीले शिकवे दूर करते है।

5.होली पर्व हिन्दू धर्म कर साथ अन्य धर्म के लोग बहुत ही खुशियों के साथ मनाते है।

6.होली फाल्गुन मास में मनाया जाने वाला पर्व हैं।

8.होली के सम्बंध में अनेक प्रकार की पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं। जिसमे हिरण्यकश्यप और प्रहलाद की कथा काफी प्रचलित हैं।

9.यह पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक हैं।

10.बच्चे इस त्योहार के प्रति काफी उत्सुक होते है। गुब्बारों में रंगों को भरकर लोगो पर फेंक कर मारते है।

आशा हैं कि हमारे द्वारा दिया गया होली पर निबन्ध हिंदी में आपको काफी पसंद आया होगा। यदि यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इसे आप सभी लोग अपने दोस्तों से जरूर शेयर करे

Tages-होली पर निबंध लिखिए,होली पर निबंध बताइए,होली पर निबंध लिखें,होली पर निबंध प्रस्तावना सहित,होली के बारे में निबंध,होली पर निबंध बच्चों के लिए,होली पर निबंध ,होली के निबंध,होली का निबंध लिखा हुआ,होली पर निबंध बच्चों के लिए 10 line,होली पर 10 लाइन,simpale 10 lines essay on holi,Long essay on holi in hindi, होली पर बड़ा निबन्ध, होली पर निबन्ध प्रस्तावना सहित,होली पर निबन्ध 2020 , Short essay on holi in hindi ,होली पर निबन्ध हिंदी में,essay on holi in hindi

Leave a Comment