ये 7 आदतें आपकी प्रतिरक्षा को मज़बूत बना देंगी

यदि आप अपनी इम्युनिटी को और मज़बूत बनाना चाहते हैं, तो इसके कई तरीके हैं | इम्युनिटी आपको न केवल covid-19 के वायरस से लड़ने में मदद करेगी बल्कि यह आपके ज़िन्दगी में एक नया जोश ले आएगी | हमने कुछ ऐसे उपयोगी टिप्स इकठ्ठा किये हैं जिन्हें आप अपनी प्रतिरक्षा को मज़बूत करने लिए अभी से इस्तेमाल करना शुरू कर सकते हैं | 

1. संतुलित आहार खाएं 

भोजन शरीर का ईंधन है | इसलिए एक संतुलित आहार बनाये रखना बोहोत ही आवश्यक है | एक संतुलित आहार, यानी कि एक ‘बैलेंस्ड डाइट’ में शरीर की सारी ज़रूरतों की पुष्टि होती है | इसमें कैलोरीज़, प्रोटीन, मिनरल्स,और विटामिन, सभी मौजूद होते हैं | कैलोरीज की बात की जाए तो 1600 से 2000 कैलोरीज औरतों को और 2000 से 2500 कैलोरीज आदमियॉं को हर रोज़ लेना ही चाहिए | क्या आप जानना चाहते हैं कि आपके भोजन में कितने कैलोरीज हैं? यदि हाँ, तो इसका एक सरल तरीका है Google खोल कर ‘(व्यंजन का नाम) में कितने कैलोरीज होते हैं?’ लिखना | Google  आपको तुरंत और सटीक उत्तर दे देगा, जिसका इस्तेमाल करके आप अपनी डाइट चार्ट बना सकते हैं | 

याद रखें: जितना महत्व कैलोरीज का है, उतना ही महत्व प्रोटीन का भी है | ऐसा इसलिए क्यूंकि जहाँ कैलोरीज शक्ति देते हैं, वहीँ प्रोटीन आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को चलाने वाले cells को बनाता है | प्रोटीन के कुछ अच्छे स्रोत हैं मछली, चिकन, अंडे, राजमे, चने, दाल इत्यादि | हाँ यह सच है कि  शाकाहारी लोगों के लोए प्रोटीन के स्रोत कम हैं | लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है | आज दिन में प्लांट के प्रोटीन से बनने वाले पाउडर उपलब्ध हैं, जो कि एक ही चम्मच में पूरे दिन के खुर्राक को पूरा कर देते हैं | Pharmeasy जैसी वेबसाइट पर आप इन्हें आसानी से मांगा सकते हैं | ये चंद  दिनों के अंदर पोहोच जाते हैं और दुकानों से सस्ते भी होते हैं | और तो और, Pharmeasy  के कूपन इस्तेमाल करने पे ये आपको और भी सस्ते में मिल जाते हैं | 

READ MORE ::  10 lines on my school in hindi , मेरे विद्यालय पर 10 लाइन

प्रोटीन और कैलोरीज के अलावा यदि आप अपनी मिनरल्स और विटामिन सेवन का भी ध्यान रखते हैं, तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली आपका ध्यान ज़रूर रखेगी | 

अपने डाइट में से तेल एवं चीनी की मात्रा काम करें, और दूध, अंकुरित चने, अंकुरित मूंग, हरी सब्ज़ियां, और फलों की मात्रा बढ़ाएं | 

2. रोज़ाना व्यायाम करें 

व्यायाम की इतना अधिक महत्व इसलिए है क्यूंकि यह आपके शरीर को भिन्न प्रकार के बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने का ताकत देता है | यह आपके शरीर में उपस्थित बैक्टीरिया को फेफड़ों से बाहर निकालने में मदद करता है और साथ ही साथ आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के cells में बदलाव लाता है | 

यदि आप व्यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल कर लेते हैं, तो यह ना कि सिर्फ शारीरिक लाभ देता है, बल्कि मानसिक तनाव को भी दूर करता है | इन समयों मानसिक तनाव हमारे ज़्यादातर मुसीबतों का स्रोत है | इसलिए सूर्या नमस्कार, योग, दौड़ लगाना, इत्यादि तरीके के व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा ज़रूर बनाएं | 

3. अपनी नींद पूरी करें 

  नींद हमारे शरीर के ‘रिसेट बटन’ के जैसी होती है | यह ना कि बस हमे तरोताज़ा करती है, बल्कि हमारे मशीन-रुपी शरीर को आराम देती है | इंसान अच्छी नींद न पाने पर ऊर्जा की कमी, थकान, और चिड़चिड़ापन महसूस करता है | पर यह सब केवल बाहरी परिणाम हैं | शरीर के अंदर उसकी इम्युनिटी, हार्ट रेट, इत्यादि पर भी बुरा असर पड़ता है | 

इसलिए ध्यान रखें कि सोने से पहले आप शोरों को ब्लॉक कर दें, (तकरीबन एक घंटे पहले) फ़ोन को कहीं दूर रख दें, और एक आरामदायक तकिये को तैयार कार लें | यदि आपको अलार्म की मदद से उठने में आसानी होती है, तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है | पर याद रखें की अलार्म 7 से 9 घंटे बाद का सेट हो | ऐसा इसलिए क्युकी इतनी नींद आपके शरीर के T cells को मज़बूत बनाता है, एवं उन्हें वायरस से लड़ पाने के काबिल बनता है | 

READ MORE ::  भाषा विकास , language development in hindi

4. गर्म खाना एवं गर्म पेय का सेवन करें 

यदि खाना गर्म हो तो इसमें मौजूद पोषिक तत्त्व आसानी से शरीर द्वारा अवशोषित हो जाते हैं | साथ ही साथ, गर्म भोजन का पाचन भी ज़्यादा आसान होता है | इसलये यदि आप देर से खाते हैं, या फिर सुबह का पैक किया हुआ खाना दफ्तर में जाकर खाते हैं, तो इसे खाने से पहले माइक्रोवेव में गर्म कर लें | 

यह आपकी प्रतिरक्षा को मज़बूत बनाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा | 

जितना महत्व गर्म खाने का है, उतना ही महत्व गर्म पेय पदार्थों का भी है | पेय जैसे की ग्रीन टी, लेमन टी, कॉफ़ी, एवं अदरक की चाय आपके शरीर के अंदर के कीटाणुओं को मारने में और आपको तंदुरुस्त रखने में अत्यंत लाभदायक हैं | इन्हें दिन में कम से कम एक बार लेने की आदत ज़रूर डालनी चाहिए | यदि आप ग्रीन टी या लेमन टी के शौकीन हैं, तो इसे सुबह उठकर पीने की आदत डालें | खाली पेट में लिया हुआ गर्म पेय आपके पाचन के लिए बोहोत ही अच्छा है | इसके आलावा आप सुबह को एक बड़े ग्लास में गर्म पानी भी ले सकते हैं | यह भी आपको फायदा करेगा | 

5. शरीर में विटामिन सी और विटामिन डी की मात्रा बढ़ाएं 

हमारे cells  को हानि से बचाये रखने के साथ साथ विटामिन सी हमारी त्वचा, रक्त वाहिकाओं, हड्डियों, और उपास्थि का भी पोषण करता है | एक दिन में आदमियों को 90 mg और औरतों को 75 mg विटामिन सी का सेवन करना चाहिए | विटामिन सी के कुछ अच्छे स्रोत होते हैं संतरे, नीम्बू, जामुन, कीवी फल, आलू,टमाटर, शिमला मिर्च, ब्रोक्ली, आदि | एक संतरे के फल में लगभग 70 mg विटामिन सी होता है और एक नीम्बू में लगभग 30 mg | इसलिए यदि आप कोशिश करें तो दिन के विटामिन सी की खुर्राक को पूरा करना बहुत ही आसान है | 

READ MORE ::  जन्तु कोशिका और पादप कोशिका में अंतर,Difference between animal cell and plant cell in hindi

जहाँ बात विटामिन डी की है, तो यह भी विटामिन सी की तरह ही महत्वपूर्ण है | अण्डों, बटर, दूध, और मछली के जिगर के तेल में पाए जाने वाला ये पदार्थ बीमारी और संक्रमण से बचाये  रखता है | एक दिन में 600 से 800 IU की मात्रा विटामिन डी के लिए अनुशंसित की जाती है | एक उबले हुए अंडे में लगभग 43 IU विटामिन डी मौजूद होता है | वहीँ दूसरी ओर एक छोटी चम्मच मछली के जिगर के तेल में 450 IU विटामिन डी होता है | 

पर इन सब में से सूर्या की रौशनी को विटामिन डी का सर्वोत्तम स्रोत माना गया है | यदि आप सुबह की धुप में 10-30 मिनट खड़े रहे, तो इतना विटामिन डी आपके शरीर के लिए बोहोत है | पर ध्यान रहे, अत्यधिक धुप भी आपके लिए अच्छी नहीं है | इसलिए आप इस प्रथा को हफ्ते में केवल 3 बार करें और दोपहरी के धुप से बचें | 

6. हाइड्रेटेड रहें 

जहां भी आप जाते हैं, वहां पानी की बोतल ले जाना पाचन और मजबूत प्रतिरक्षा के लिए बहुत ज़रूरी है। मानव अस्तित्व पूरी तरह से पानी पर निर्भर करता है क्योंकि इसमें पोषक तत्वों को शरीर की सबसे छोटी कोशिका तक ले जाने की क्षमता होती है। यह शरीर से सभी विषाक्त पदार्थों और अपशिष्ट पदार्थों को भी निकालता है। इसलिए, पर्याप्त पानी पीने और हाइड्रेटेड रहने से आपको एक शक्तिशाली प्रतिरक्षा प्रणाली विकसित करने में मदद मिलेगी। 

7. सही समय पर भोजन करें 

समय पर भोजन करने से आपका पाचन काफी हद तक बेहतर हो जाता है | यदि भोजन सही समय पर ना लिए जाए, तो हमारा शरीर भोजन की शक्तियों को पूरी तरह से अवशोषित नहीं कर पाता | इसलिए हर रोज़ उसी समय पे भोजन करना फायदेमंद है | इससे हमारा ‘सिरकाडियन साइकिल’, यानी की हमारे शरीर की आतंरिक घडी अच्छे से चलती है |

Leave a Comment