शैल किसे कहते है ? , शैल के प्रकार

शैल किसे कहते है ? , शैल के प्रकार :: आज Hindivaani आपको एक महत्वपूर्ण टॉपिक पर आज चर्चा करेंगे। इसके अंतर्गत हम आपको विस्तृत रूप से शैल किसे कहते है या शैल क्या है , शैल के प्रकार आदि की जानकारी प्रदान करेंगे।

शैल किसे कहते है ? , शैल के प्रकार

शैल किसे कहते है ? , शैल के प्रकार
शैल किसे कहते है ? , शैल के प्रकार

शैल किसे कहते है ?

भूपर्पटी की संरचना जिन तत्वों से हुई है।उन्हें शैल या चट्टान कहते हैं।यह अनेक खनिज एवं लवणों लवणों का मिश्रण होती हैं।इस प्रकार भूपर्पटी का निर्माण विभिन्न प्रकार की सालों सालों से हुआ है शैलो की रचना में फेलस्पार, क्वार्ट्ज,अभ्रक के सिलिकेट खनिजों का अधिक मिलता है मिलता है।

शैल की परिभाषा

शैल की परिभाषा निम्नलिखित हैं।

आर्थर होम्स के अनुसार शैल की परिभाषा

“शैले विभिन्न प्रकार के खनिज पदार्थों का मिश्रण होती हैं। कुछ शैले एक ही खनिज के योग से मिलकर बनती हैं। जबकि अधिकांश का निर्माण एक से अधिक खनिजों के योग से होता है ।वह चाहे चीका की भांति मुलायम हो अथवा ग्रेनाइट की भांति कठोर हो शैल कहलाती हैं।”

शैल के प्रकार

उत्पत्ति के आधार पर शैल के तीन प्रकार होते है।

  1. आग्नेय शैल।
  2. अवसादी शैल।
  3. कायान्तरित शैल।

आग्नेय शैल –

जो चट्टाने गर्म हवा पिघले चट्टानी पिघले हवा पिघले चट्टानी पिघले चट्टानी पदार्थों के ठंडे होने से ठोस हो गई हैं।आग्नेय शैल कहलाती हैं। भू पृष्ठ पर पाई जाने वाली शैलो में आग्नेय शैल प्राचीनतम शैले हैं।इन शैलो को प्राथमिक सेल भी कहा जाता है।क्योंकि अन्य शैलो की उत्पत्ति इन्हीं के कारण होती है। भूगर्भ का तरल एवं तप्त मैग्मा या लावा भूपृष्ठ पर पहुंचकर ठंडा होने से रवेदार कणों के रूप में जमकर आग्नेय शैल का रूप धारण करता है। आग्नेय शैल के उत्तम उदाहरण बैसाल्ट और ग्रेनाइट हैं।

अवसादी शैल –

अवसादी शैलो का निर्माण तलछट के जमाव से होता है। जिसका जमाव सागरों एवं झीलों की तली में होता है। अवसादो में बजरी, बालू ,चूना ,कीचड़ ,गाद और चिकनी मिट्टी के कण मिले रहते हैं। इसका निक्षेपण कणों के आधार और भार के अनुरूप होता है। अर्थात भारी कण नीचे की ओर तथा हल्के कण ऊपर की ओर निक्षेपित हो जाते हैं। अवसाद की परतों से नीचे होने के कारण ही इन्हें परतदार शैल भी कहा जाता है। भू पृष्ठ पर अवसादी शैलो का विस्तार सबसे अधिक मिलता है।चूना पत्थर और बलुआ पत्थर अवसादी शैल के प्रमुख उदाहरण है

कायान्तरित शैल –

कायांतरण शब्द अँग्रेजी भाषा के मेटामॉरफिक शब्द का हिंदी अनुवाद हैं। इन शैलो का निर्माणा आग्नेय एवं परत दार शैलो के रूप परिवर्तन के कारण होता है।इसलिए इन्हें कायांतरित शैल या रूपांतरित शैल कहा जाता है। कभी-कभी कायांतरित शैल का पुनः कायांतरण हो जाता है। कायांतरण के समय मूल सेल की प्रकृति बदल जाती है इस प्रक्रिया में पुराने खनिज नया रूप धारण कर लेते हैं। जिससे नवीन खनिजों का निर्माण हो जाता है। शैलो में रवे बन जाते हैं।तथा पूर्व निर्मित रवो का रूप भी बदल सकता है संगमरमर महत्वपूर्ण कायांतरित शैल है ।जिसकी रचना चूना पत्थर के कायांतरण से हुई है ।बलुआ पत्थर का कायांतरण क्वार्टजाइट में होता है।

आशा हैं कि हमारे द्वारा दी गयी शैल किसे कहते है ? , शैल के प्रकार की जानकारी आपको पसन्द आयी होगी। यदि आपको शैल किसे कहते है ? , शैल के प्रकार आपको पसन्द आयी हो तो इसे अपने दोस्तो से जरूर शेयर करे।

Leave a Comment