वृद्धि और विकास में अंतर(Difference between growth and development)

वृद्धि और विकास में अंतर(difference between growth and development) :: एक प्रकार से देखा जाए तो वृद्धि और विकास एक दूसरे के पर्यायवाची शब्द है। क्यों वृद्धि और विकास एक दूसरे से सम्बंधित है। मनुष्य के विकास को दोनों को अलग अलग व्यक्त करना कठिन है। किंतु कुछ मनोवैज्ञानिक ने इसकी अलग अलग परिभाषाये दी हैं। जिसको हम आगे पढेंगे। इस आर्टिकल में हम वृद्धि और विकास में अंतर के साथ साथ वृद्धि की परिभाषा , विकास की परिभाषा आदि की जानकारी प्रदान करेंगे। तो आइए शुरू करते है।

वृद्धि का अर्थ( Meaning of growth)

कोशिकाओं की गुणात्मक परिवर्तन ही वृद्धि कहलाता हैं। जैसे – उचाई, भार, चौड़ाई आदि का बढ़ना।

विकास का अर्थ ( Meaning of development)

सम्पूर्ण आकृति या रूप में परिवर्तन ही विकास कहलाता है। वास्तव में विकास संपूर्ण अभिवृद्धिओं का संगठन है।इसके कारण बालक की कार्यक्षमता और कुशलता में प्रगति होती है।उदाहरण के रूप में जैसे पैरों की वृद्धि, धड़ की वृद्धि अभिवृद्धि है। किंतु इनका सम्मिलित रूप शारीरिक विकास कहलाता है।

लोग क्या पढ़ रहे है –uptet study material free pdf notes in hindi

uptet child development and pedagogy notes in hindi

uptet evs notes in hindi


फ्रैंक के अनुसार वृद्धि के परिभाषा


“शरीर व व्यवहार में से पहले जिसमे जो परिवर्तन होते है, उसे अभिवृद्धि कहते है”

मुनरो के अनुसार विकास की परिभाषा

” परिवर्तन , वह अवस्था के अंतर्गत आता है, जिसमे बालक ब भ्रूणावस्था से लेकर प्रौढावस्था तक गुजरता है, विकास कहा जाता है।

यदि आप अपने जीवन मे सफल होना चाहते है। तो ये प्रेणादायक किताब जरूर पढ़ें – top 21 motivational book in hindi

वृद्धि और विकास में अंतर(Difference between growth and development)

Difference between growth and development
वृद्धि और विकास में अंतर(Difference between growth and development)

वृद्धि और विकास में अंतर(Difference between growth and development)

वृद्धि(growth)विकास(development)
वृद्धि शब्द परिणात्मक परिवर्तनों ( Quantitative changes) के लिए प्रयोग में लाये जाते है।जैसे जब बालक की उम्र बढ़ती है तो उसके साथ
उसकी लंबाई चौड़ाई भी बढ़ती है जिसे हम वृद्धि कहते है।
विकास शब्द का प्रयोग
गुणात्मक परिवर्तन के लिए
प्रयोग में लाया जाता है, जैसे बालक में
कार्यकुशलता,
कार्यक्षमता आदि की वृद्धि होती है तो विकास शब्द का प्रयोग किया जाता है।
वृद्धि विकास का एक छोटा रूप है, विकास की सतत प्रक्रिया में यह एक छोटा सा चरण है।विकास शब्द एक विस्तृत शब्द है। वृद्धि विकास का ही भाग है।
वृद्धि की प्रक्रिया जीवनपर्यंत नही चलती है। बालक के पूर्ण
परिपक्व होने की स्थिति में यह
प्रक्रिया समाप्त हो जाती है।
विकास जीवन पर्यंत चलने वाली प्रक्रिया है, वृद्धि की तरह बालक के
परिपक्व होने पर यह
समाप्त नही होती है।
वृद्धि में होने वाले जो परिवर्तन है उसे सामान्य रूप से जीवन मे देखा जा सकता है ।विकास को सामान्यतः देखा नही जा सकता है। क्योंकि व्यक्ति के जीवन मे यह अप्रत्यक्ष रूप में होते है।
वृद्धि को हम माप भी सकते है।विकास को सामान्यतः मापन कठिन है।

इसे भी पढ़े

Uptet subject wise study material notes in hindi

अभिवृद्धि और विकास में अंतर स्पष्ठ कीजिये

आशा है कि हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी अगर अच्छी लगी हो तो जरूर शेयर करे धन्यवाद।

2 thoughts on “वृद्धि और विकास में अंतर(Difference between growth and development)”

    • हम धीरे धीरे आपको चाइल्ड डेवलोपमेन्ट से सम्बंधित नोट्स आपको उपलब्ध करा देंगे । आप निश्चिन्त रहे।

      Reply

Leave a Comment