यौगिक और मिश्रण में अंतर ( Difference between compound and mixture)

यौगिक और मिश्रण में अंतर ( Difference between compound and mixture) :: विज्ञान के अंतर्गत बताये जाने वाले विभिन्न प्रकार के अन्तरो की शृंखला में आज hindivaani आप सभी के लिए लेकर आया हैं। यौगिक और मिश्रण में अंतर ( Difference between compound and mixture) इसके अंतर्गत आपको यौगिक किसे कहते है, यौगिक विशेषताए,मिश्रण किसे कहते है, मिश्रण के प्रकार,मिश्रण की विशेषताए, मिश्रण के उदाहरण आदि की जानकारी प्रदान की जाएगी।

यौगिक और मिश्रण में अंतर ( Difference between compound and mixture)

यौगिक और मिश्रण में अंतर ( Difference between compound and mixture)
यौगिक और मिश्रण में अंतर ( Difference between compound and mixture)

यौगिक किसे कहते है?

वह शुद्ध समांग पदार्थ , जो दो या दो से अधिक तत्वों के निश्चित अनुपात में परस्पर रासायनिक संयोग से बनता हैं, यौगिक कहलाता हैं।

या

यौगिक वह पदार्थ हैं। जिसकव अणु भिन्न भिन्न प्रकार के परमाणुओं के निश्चित अनुपात में सयुक्त होने से बनते है।

जैसे – जल, सोडियम क्लोराइड, कॉपर सल्फेट, सोडियम कार्बोनेट, अमोनिया, चीनी ,चाक आदि।

उपयोगी लिंक – अणु और परमाणु में अंतर

यौगिको की विशेषताए

यौगिको की निम्लिखित विशेषताए होती हैं।

  • यौगिक में उपस्थित तत्वों का अनुपात सदा निश्चित होता है।
  • यौगिक शुद्ध और सामान्य पदार्थ होता है।
  • किसी यौगिक के बनने में ऊष्मा ,विद्युत ,प्रकाश,ध्वनिआदि या तो उत्पन्न होती है।या तो अवशोषित होती है।
  • तत्वों के परमाणु रासायनिक बंध स्थापित करके योगिक का और बनाते हैं।

मिश्रण किसे कहते हैं?

दो या दो से अधिक तत्व या यौगिको को किसी भी अनुपात में मिलाने पर जो अशुद्ध और विषमांग द्रव्य प्राप्त होता है।वह मिश्रण कहलाता है।

मिश्रण के उदाहरण – मिश्रण के उदाहरण निम्नलिखित हैं।

  • ठोस का मिश्रण – सीमेंट , बारूद, पीतल आदि।
  • ठोस – द्रव का मिश्रण – चीनी का विलयन, नमक का विलयन , चीनी व दूध का विलयन।
  • द्रव- गैस का मिश्रण – सोडावाटर ( जल + कार्बनडाइआक्साइड)

मिश्रण की विशेषताएं

मिश्रण की निम्नलिखित विशेषताएं होती हैं

1.मिश्रण अधिकतर विषमांग द्रव्य होते हैं।

2.मिश्रण के अवयव पदार्थ निश्चित अनुपात में होते हैं।

3.मिश्रण का कोई विशिष्ट गुण नहीं होता है।

4.मिश्रण के अवयवों को भौतिक विधियों द्वारा अलग किया जा सकता है।

5.सामान्य रूप से मिश्रण बनाने में कोई ऊर्जा परिवर्तन नहीं होता है।

मिश्रण के प्रकार

मिश्रण की निम्नलिखित दो प्रकार होते हैं।

  • समांगी मिश्रण
  • विषमांगी मिश्रण

समांगी मिश्रण – जिस मिश्रण के प्रत्येक भाग के सभी गुण एक समान होते हैं।उसे समांगी मिश्रण कहते हैं ।

जैसे – शक्कर का जल में मिश्रण सामंगी मिश्रण है।

विषमांगी मिश्रण – जिस मिश्रण के प्रत्येक भाग के गुण एकसमान नही होते है, उसे विषमांगी मिश्रण कहते है।

जैसे – रेत और जल का मिश्रण, रेत व लोहे का मिश्रण।

यौगिक और मिश्रण में अंतर ( Difference between compound and mixture)

यौगिक और मिश्रण में अंतर निम्नलिखित हैं।

यौगिकमिश्रण
दो या दो से अधिक तत्वों के किसी निश्चित अनुपात के रासायनिक संयोग से यौगिक का निर्माण होता हैं।दो या दो से अधिक पदार्थ को किसी भी अनुपात में मिला देने पर मिश्रण का निर्माण होता हैं।
यौगिक समांग होता हैं।मिश्रण ज्यादा तर विषमांग होते है।
यौगिक के गुणधर्म इसके अवयवी तत्वों से भिन्न होते हैं ।मिश्रण के गुण उसमे उपस्थित अवयवों के गुणों के समान होते है।
इनको भौतिक विधियों द्वारा अलग नही किया जा सकता हैं।इनको सरल भौतिक विधियों द्वारा अलग किया जा सकता हैं।
यौगिक बनने में ऊर्जा परिर्वतन होता हैं।मिश्रण के बनने में कोई ऊर्जा परिवर्तन नही होता हैं।

आशा हैं कि हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पसन्द आयी होगी। यदि आपको यह जानकारी पसन्द आयी हो तो इसे अपने दोस्तों से जरूर शेयर करे।

Tages-यौगिक और मिश्रण में क्या अंतर है,यौगिक और मिश्रण में अंतर लिखो,यौगिक तथा मिश्रण में अंतर,यौगिक के उदाहरण,मिश्रण एवं यौगिक में अंतर लिखिए,मिश्रण और यौगिक में पांच अंतर,मिश्रण और यौगिक में अंतर स्पष्ट करें,यौगिक और मिश्रण में अंतर,Difference between compound and mixture,यौगिक किसे कहते है, यौगिक विशेषताए,मिश्रण किसे कहते है, मिश्रण के प्रकार,मिश्रण की विशेषताए, मिश्रण के उदाहरण

Leave a Comment