प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर(Difference between photosynthesis and respiration)

प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर(Difference between photosynthesis and respiration) :: प्रकाश संश्लेषण और श्वसन विज्ञान विषय में एक महत्वपूर्ण टॉपिक है।इस टॉपिक को एक किनारे कभी नहीं किया जा सकता है।इसलिए Hindivaani आज आपके लिए प्रकाश संश्लेषण और श्वसन से संबंधित जानकारी लेकर के आया है। जिसके अंतर्गत आपको प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं,श्वसन किसे कहते हैं ,प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर ,प्रकाश संश्लेषण को प्रभावित करने वाले कारक ,आज की जानकारी प्रदान करेगा।

प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर(Difference between photosynthesis and respiration)

प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर(Difference between photosynthesis and respiration)
प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर(Difference between photosynthesis and respiration)

प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं?(Photosynthesis)

हरे पेड़ पौधे सूर्य की उपस्थिति में प्रकाश ऊर्जा को अनुबंधित कर रासायनिक ऊर्जा के रूप में कार्बनिक पदार्थों में संजोकर कार्बोहाइड्रेट का निर्माण करते हैं।यह प्रक्रिया प्रकाश संश्लेषण कहलाती है।प्रकाश में कार्बन डाई ऑक्साइड तथा ऑक्सीजन तथा हाइड्रोजन के लिए उपयोग किया जाता है। तथा का निर्माण किया जाता है।

प्रकाश संश्लेषण को प्रभावित करने वाले कारक (Factors affecting photosynthesis)

प्रकाश संश्लेषण को प्रभावित करने वाले कारक निम्नलिखित हैं।

बाह्य कारक

बाह्य कारक के अंतर्गत निम्नलिखित कारक आते हैं।

प्रकाश

कार्बन डाइऑक्साइड

तापमान

जल

खनिज

ऑक्सीजन

अंतः कारक

अन्तः कारक के अंतर्गत प्रकाश संश्लेषण को प्रभावित करने वाले कारक निम्नलिखित है।

  1. पर्णहरित
  2. पत्ती की संरचना

श्वसन किसे कहते हैं(definition of respiration)

श्वसन, जीवित कोशिकाओं में होने वाले उन सभी एंजाइमी अभिक्रियाओ को कहते हैं।जिनमें ऑक्सीजन की उपस्थिति अथवा अनुपस्थिति में कार्बनिक पदार्थों का ऑक्सीकरण होकर ऊर्जा मुक्त होती है।और कार्बन डाइऑक्साइड बाहर निकलती है।

प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर(Difference between photosynthesis and respiration)

प्रकाश संश्लेषण (Photosynthesis) श्वसन (respiration)
प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में कार्बन डाइऑक्साइड ग्रहण की जाती है तथा ऑक्सीजन निकलती है श्वसन की क्रिया में ऑक्सीजन ली जाती है तथा कार्बन डाइऑक्साइड बाहर निकाली जाती है
प्रकाश संश्लेषण की क्रिया केवल प्रकाश में विशेषकर सूर्य के प्रकाश में होती है ।श्वसन की क्रिया दिन रात होती रहती है ।
सूर्य के प्रकाश की सौर ऊर्जा को एकत्र करके कार्बोहाइड्रेट संचित किया जाता है । कार्बोहाइड्रेट के ऑक्सीकरण से इनमें संचित ऊर्जा गतिज ऊर्जा के रूप में मुक्त हो जाती है ।
प्रकाश संश्लेषण की क्रिया में भोज्य पदार्थों का संश्लेषण होता है या उपचार क्रिया है। श्वसन की क्रिया में भोज्य पदार्थों का ऑक्सीकरण होता है यह क्रिया है ।
पौधे के भार में वृद्धि होती है । जीवन के भार में कमी होती है ।
पौधे के हरे भागों में ही होती है ।सभी जीव जंतुओं की जीवित कोशिकाओं में होती है ।

आशा है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। इसे आप अपने दोस्तों से जरूर शेयर कर सकते हैं ।

Tages- प्रकाश संश्लेषण किसे कहते हैं ,श्वसन किसे कहते हैं ,प्रकाश संश्लेषण और श्वसन में अंतर, प्रकाश संश्लेषण की क्रिया विधि,प्रकाश संश्लेषण को प्रभावित करने वाले कारक।

Leave a Comment