गेस्टाल्ट वादियों का अंतर्दृष्टि सूझ का सिद्धांत | Insight learning theory in hindi

0
118

गेस्टाल्ट वादियों का अंतर्दृष्टि सूझ का सिद्धांत | Insight learning theory in hindi: इस सिद्धांत को गेस्टाल्ट सिद्धांत, समग्र सिद्धांत ,अंतर्दृष्टि सिद्धांत या सूझ का सिद्धांत आदि नामों से जाना जाता है। इस सिद्धांत के प्रतिपादकों में चार जर्मन मनोवैज्ञानिक मैक्स वर्दीमर, वोल्फगैंग कोहलर, कुर्ट कोफ़्का, कुर्ट लेविन है।

गेस्टाल्ट वादियों का अंतर्दृष्टि सूझ का सिद्धांत | Insight learning theory in hindi

गेस्टाल्ट वादियों का अंतर्दृष्टि सूझ का सिद्धांत | Insight learning theory in hindi,गेस्टाल्ट सिद्धांत, समग्र सिद्धांत ,अंतर्दृष्टि सिद्धांत ,सूझ का सिद्धांत, अंतर्दृष्टि के सिद्धांत के प्रतिपादक को है,अंतर्दृष्टि या सूझ के सिद्धांत का शिक्षा में उपयोग, कोहलर का अंतर्दृष्टि या सूझ का सिद्धांत
गेस्टाल्ट वादियों का अंतर्दृष्टि सूझ का सिद्धांत | Insight learning theory in hindi,गेस्टाल्ट सिद्धांत, समग्र सिद्धांत ,अंतर्दृष्टि सिद्धांत ,सूझ का सिद्धांत, अंतर्दृष्टि के सिद्धांत के प्रतिपादक को है,अंतर्दृष्टि या सूझ के सिद्धांत का शिक्षा में उपयोग, कोहलर का अंतर्दृष्टि या सूझ का सिद्धांत

अंतर्दृष्टि या सूझ का सिद्धांत का अर्थ

व्यक्ति सर्वप्रथम अपने आसपास की परिस्थितियों को विभिन्न अंगों में पारस्परिक संबंधों की स्थापना करता है।और संपूर्ण परिस्थितियों को समझने के पश्चात वह परिस्थिति के अनुसार प्रतिक्रिया व्यक्त करता है।दूसरे शब्दों में सूझ द्वारा सीखने का तात्पर्य परिस्थिति को पूर्णतया समझकर सीखना है।

कोहलर का प्रयोग

कोहलर ने छह वनमानुषों को एक कमरे में बंद कर दिया। कमरे की छत में उसने केले के गुच्छे को लटका दिया।समस्त वनमानुष केले को प्राप्त करने का प्रयास करने लगे। परंतु सभी असफल हुए उनमें से एक सुल्तान नाम का वनमानुष था। उसने देखा कि कमरे में एक बॉक्स रखा है।वह इधर-उधर घूमने के पश्चात बॉक्स के पास पहुंचा।और उसके बाद उसने बॉक्स को पकड़कर खींचा और उसने केले के नीचे उस बॉक्स को घसीट कर ले आया।और बॉक्स के ऊपर खड़े होकर केले के गुच्छे को उतार कर खा लिया। सुल्तान की इस प्रकार केलो को प्राप्त करने से स्पष्ट हो जाता है।कि उसमें अन्य वनमानुष की अपेक्षा अधिक सूझ थी।

गेस्टाल्ट वादियों का अंतर्दृष्टि सूझ का सिद्धांत | Insight learning theory in hindi,गेस्टाल्ट सिद्धांत, समग्र सिद्धांत ,अंतर्दृष्टि सिद्धांत ,सूझ का सिद्धांत, अंतर्दृष्टि के सिद्धांत के प्रतिपादक को है,अंतर्दृष्टि या सूझ के सिद्धांत का शिक्षा में उपयोग, कोहलर का अंतर्दृष्टि या सूझ का सिद्धांत

सूझ के सिद्धांत की विशेषताएं

सूझ के सिद्धांत की विशेषताएं निम्नलिखित हैं।

  • सीखने की प्रकृति संज्ञानात्मक होती है।
  • अधिगम या सीखना अचानक होता है।
  • सीखने की प्रक्रिया यंत्रवत नहीं होती है।
  • सीखने की प्रकृति स्थाई होती है।
  • सीखने की प्रक्रिया में प्राप्त सूझ अचानक होती है।

सूझ पर प्रभाव डालने वाले कारक

सूझ पर प्रभाव डालने वाले महत्वपूर्ण कारक निम्नलिखित हैं।

प्रत्यक्षीकरण – अंतर्दृष्टि का आधार प्रत्यक्षीकरण है ।यदि समस्या का ठीक प्रकार से प्रत्यक्षीकरण नहीं होगा।तो अंतर्दृष्टि का विकास संभव नहीं है।

बुद्धि – बुद्धि भी अंतर्दृष्टि को प्रभावित करती है।उच्च बौद्धिक स्तर वाले जीवो में अंतर्दृष्टि अधिक क्रियाशील रहती है।

समस्या की रचना – समस्या की रचना भी अंतर्दृष्टि को प्रभावित करती है।अव्यवस्थित तथा जटिल रचना वाली विषय वस्तु में प्रत्यक्षीकरण में व्यवधान पैदा हो जाता है।

अनुभव – अनुभव का अंतर्दृष्टि के विकास में योगदान है। अनुभवी व्यक्ति अंतर्दृष्टि द्वारा समस्या का हल शीघ्र ढूंढ लेता है।

अंतर्दृष्टि व सूझ के सिद्धांत का शिक्षण में उपयोग

(1)बालकों के सामने पूरे समस्या को एक साथ प्रस्तुत करना चाहिए।

(2)बालकों को सिखाने से पहले उन्हें मानसिक रूप से तैयार करना चाहिए।तथा बालकों को सीखने के लिए उचित वातावरण का निर्माण कर लेना चाहिए।

(3)अध्यापक द्वारा सीखने से पहले बालकों के अंदर जिज्ञासा उत्पन्न कर देनी चाहिए जिससे कि बालकों के अंदर सूझ उत्पन्न हो सके।

(4)विद्यालय में कार्य, पाठ सामग्री तथा शिक्षण संबंधी गतिविधियां बालकों की सूझ के अनुसार होनी चाहिए।

(5)अध्यापकों को छात्र की पूर्व अनुभवों को संगठन कर उन पर ध्यान ,देकर के किसी विषय वस्तु को समझाना चाहिए।

गेस्टाल्ट वादियों का अंतर्दृष्टि सूझ का सिद्धांत | Insight learning theory in hindi,गेस्टाल्ट सिद्धांत, समग्र सिद्धांत ,अंतर्दृष्टि सिद्धांत ,सूझ का सिद्धांत, अंतर्दृष्टि के सिद्धांत के प्रतिपादक को है,अंतर्दृष्टि या सूझ के सिद्धांत का शिक्षा में उपयोग, कोहलर का अंतर्दृष्टि या सूझ का सिद्धांत

आशा है कि हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पसंद आई होगी इसे अपने दोस्तों से जरूर शेयर करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here